Republic Day: इस बार राजपथ पर होगा कुछ खास, पहली बार 75 विमानों का फ्लाई पास्ट दिखेगा

इस बार गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) बहुत कुछ खास होगा। परेड में इतिहास में पहली बार 75 विमानों का फ्लाई पास्ट होगा। रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) ने बताया कि 75 विमानों का भव्य फ्लाई पास्ट सांस्कृतिक प्रदर्शन, 75 मीटर लंबाई के 10 स्क्रॉल का प्रदर्शन और 10 बड़े एलईडी

नई दिल्ली: इस बार गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) बहुत कुछ खास होगा। परेड में इतिहास में पहली बार 75 विमानों का फ्लाई पास्ट होगा। रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) ने बताया कि 75 विमानों का भव्य फ्लाई पास्ट सांस्कृतिक प्रदर्शन, 75 मीटर लंबाई के 10 स्क्रॉल का प्रदर्शन और 10 बड़े एलईडी स्क्रीन लगाए जाने जैसे कार्यक्रम गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार होंगे। इसके अलावा यह पहली बार है कि गणतंत्र दिवस पर कोई विदेशी मेहमान नहीं होगा।

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि गणतंत्र दिवस परेड-2022 भारत की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में हो रही है, जिसे पूरे देश में आजादी का अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। ग्रैंड फिनाले और परेड के सर्वाधिक प्रतीक्षित खंड फ्लाई पास्ट में पहली बार भारतीय वायुसेना के 75 विमान आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में दिखेंगे।

मंत्रालय के मुताबिक पहली बार भारतीय वायुसेना ने फ्लाई-पास्ट के दौरान कॉकपिट का वीडियो दिखाने के लिए दूरदर्शन के साथ तालमेल बैठाया है। बयान में कहा गया कि राफेल, सुखोई, जगुआर, एमआई-17, सारंग, अपाचे और डकोटा जैसे पुराने और वर्तमान आधुनिक विमान फ्लाई पास्ट में राहत, मेघना, एकलव्य, त्रिशूल, तिरंगा, विजय और अमृत सहित विभिन्न संयोजन (फॉर्मेशन) का प्रदर्शन करेंगे।

पहली बार परेड के दौरान राजपथ पर 75 मीटर लंबाई और 15 फुट ऊंचाई के 10 स्क्रॉल प्रदर्शित किए जाएंगे। वे (स्क्रॉल) रक्षा और संस्कृति मंत्रालयों द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित कला कुंभ कार्यक्रम के दौरान तैयार किए गए थे। ये स्क्रॉल दो चरणों में भुवनेश्वर और चंडीगढ़ में देशभर के 600 से अधिक प्रसिद्ध कलाकारों और युवा कलाकारों द्वारा चित्रित किए गए थे।

मंत्रालय ने कहा कि पहली बार परेड में सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करने वाले कलाकारों का चयन राष्ट्रव्यापी प्रतियोगिता के जरिए किया गया है। इसने कहा कि प्रतियोगिता वंदे भारतम 323 समूहों में लगभग 3,870 नर्तकों की भागीदारी के साथ जिला स्तर पर शुरू हुई थी, जिसमें कलाकार नवंबर और दिसंबर में दो महीने की अवधि में राज्य और जोनल स्तर तक के कार्यक्रमों में पहुंचे।

रक्षा मंत्रालय ने बताया कि परेड को अच्छी तरह से देखने के लिए 10 बड़े एलईडी स्क्रीन लगाए जाएंगे जो पांच-पांच की संख्या में राजपथ के दोनों ओर स्थापित होंगे। पिछले गणतंत्र दिवस परेड की फुटेज, सशस्त्र बलों पर लघु फिल्मों और गणतंत्र दिवस परेड-2022 से पहले के संबंधित विभिन्न घटनाक्रम की कहानियों को लेकर बनाई गईं फिल्मों को परेड से पहले प्रदर्शित किया जाएगा।

Add a Comment

Your email address will not be published.