दीपावली के दिन देवी लक्ष्मी को कैसे करें प्रसन्न!

Here’s How to please Goddess Lakshmi in Deepawali day!

दीवाली रोशनी से भरा एक ऐसा त्योहार है, जो सभी के जीवन को उज्ज्वल और खुशहाल बनाता है, इस दिन लोग अपने घरों, कार्यालयों, दुकानों, प्रतिष्ठानों में हर जगह दीया जलाकर मां लक्ष्मी का स्वागत करते हैं। इस साल दिवाली का त्योहार 4 नवंबर, गुरुवार को मनाया जाएगा। आज हम आपको बता रहे हैं कि दीपावली में मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए क्या करें जिससे आपके धन में वृद्धि हो:-

दीपावली पूजा में लक्ष्मीजी को 11 कोड़ियां, 21 कमलगट्टे, 25 ग्राम पीली सरसों के दाने (एक थाली में चढ़ाएं) चढ़ाएं। अगले दिन तीनों चीजों को लाल या पीले रंग के कपड़े में बांधकर तिजोरी में या जहां आप पैसा रखते हैं वहां रख दें।

दीपावली के दिन अशोक के पेड़ की जड़ की पूजा करने से घर में धन-धान्य की वृद्धि होती है।

दीपावली के दिन जल से भरा नया घड़ा लाकर रसोई में कपड़े से ढक कर रखने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

धनतेरस के दिन हल्दी और चावल को उसके घोल में पीसकर घर के मुख्य द्वार पर ओम बनाने से घर में लक्ष्मीजी (धन) का आगमन होता है।

नरक चतुर्दशी, छोटी दीपावली के दिन यदि प्रात:काल हाथी मिल जाए तो उसे गन्ना या मिठाई खिलाना निश्चित रूप से बुराई, जटिल संकटों से मुक्ति दिलाएगा। दुर्घटना से हमेशा सुरक्षा मिलती है।

दीपावली की पूजा के बाद शंख और डमरू फूंकने से घर की दरिद्रता दूर होती है और लक्ष्मीजी का आगमन जारी रहता है।

दीपावली के दिन सुबह पति-पत्नी लक्ष्मी-नारायण विष्णु मंदिर जाते हैं और लक्ष्मी-नारायणजी को एक साथ वस्त्र अर्पित करने से कभी भी धन की कमी नहीं होती है। बच्चा दिन में दोगुना और रात को चौगुना हो जाएगा।

दीपावली के दिन इमली के पेड़ की एक छोटी टहनी लाकर अपनी तिजोरी में या धन रखने के स्थान पर रखने से दिन-प्रतिदिन धन की वृद्धि होती है।

दीपावली के दिन काली हल्दी को सिंदूर और अगरबत्ती से पूजन कर 2 चांदी के सिक्कों के साथ लाल कपड़े में लपेटकर धन स्थान पर रखने से कभी भी आर्थिक परेशानी नहीं होती है।

दीपावली के अगले दिन गाय के गोबर का दीपक बनाएं और उसमें पुराना गुड़ और मीठा तेल डालकर दीपक जलाकर घर के मुख्य द्वार के मध्य में रखें। इससे घर में सुख-समृद्धि दिन-ब-दिन बढ़ती रहेगी।

दीपावली के दिन मुक्तिधाम (श्मशान) स्थित शिव मंदिर में जाकर नगर को दूध में अर्पित करने से सट्टा और शेयर बाजार से धन की प्राप्ति अवश्य होती है।

दिवाली के दिन नई झाड़ू खरीदें। पूजा से पहले पूजा स्थल को उससे साफ कर एक तरफ रख दें। अगले दिन से इसका प्रयोग करें, इससे दरिद्रता का नाश होगा और लक्ष्मीजी का आगमन बना रहेगा।

दीपावली के दिन चांदी की बांसुरी राधा-कृष्ण के मंदिर में चढ़ाकर 43 दिनों तक लगातार भगवान कृष्ण के किसी भी मंत्र का जाप करें। गाय को चारा खिलाएं और संतान के लिए प्रार्थना करें। निश्चय ही भगवान श्रीकृष्ण की कृपा से आपको संतान की प्राप्ति अवश्य होगी।

दीपावली के दिन गणेश-लक्ष्मीजी की मूर्ति खरीदते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि गणेश जी की सूंड गणेश जी की दाहिनी भुजा की ओर हो। दीपावली में इनकी पूजा करने से घर में धन-धान्य की वृद्धि होती है, संतान के मान-सम्मान में दिन-ब-दिन वृद्धि होती है।

भाई दूज के एक दिन बहते पानी में मुट्ठी भर बासमती चावल छोड़कर महालक्ष्मी जी का स्मरण करने से दिन पर दिन कृपा बढ़ती है।

आंवले के फल में, गोबर में, शंख में, कमल में, श्वेत वस्त्रों में लक्ष्मीजी का वास सदैव होता है। आंवला घर में या पित्त में अवश्य रखना चाहिए।

दिवाली के दिन हनुमान मंदिर में लाल झंडा चढ़ाने से परिवार की तरक्की के साथ-साथ यश और धन की भी वृद्धि होती है।

नरक चतुर्दशी की शाम को घर की पश्चिम दिशा में या घर की पश्चिम दिशा में पितरों के नाम पर 14 दीपक जलाएं, इससे पितृ दोष का नाश होता है और पितरों के आशीर्वाद से धन और समृद्धि में वृद्धि होती है।

Add a Comment

Your email address will not be published.